होम » हमारे बारे में » सिंहावलोकन
सिंहावलोकन

ब्रह्मपुत्र क्रैकर एंड पॉलिमर लिमिटेड ने लेपेटकटा में पेट्रोकेमिकल कॉम्पलेक्स की स्थापना की है। यह कॉम्पलेक्स चाय शहर डिब्रूगढ़ से कुल 15 किलोमीटर दूर लेपेटकटा में 3000 बीघा में फैला हुआ है। मेसर्स ईंजीनियर्स इंडिया लिमिटेड (ईआईएल) को इस प्रतिष्ठित परियोजना के लिए इंजीनियरिंग ओर परियोजना प्रबंधन सलाहकार नियुक्त किया गया। यह परियोजना 15 अगस्‍त 1985 को ऐतिहासिक असम समझौते के रुप में क्षेत्र के समग्र सामाजिक-आर्थिक विकास के उद्देश्‍य के एक महत्‍वपूर्ण अंग के रूप में उभरकर सामने आया। यह परियोजना 18 अप्रैल 2006 को आर्थिक मामलों की मंत्रीमंडलीय समिति (सी.सी.ई.ए.) द्वारा अनुमोदित किया गया। तदोपरांत एक संयुक्‍त उद्यम कंपनी बी.सी.पी.एल, 08 जनवरी 2007 को केन्‍द्रीय सार्वजनिक उपक्रम के रूप में निगमित हुआ। यह उपक्रम भारत सरकार के रसायन और पेट्रो रसायन मंत्रालय के अधीन आता है। भारत के माननीय प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने 9 अप्रैल, 2007 को इस परियोजना की आधारशिला रखी। गेल इंडिया लिमिटेड (भारत) इस परियोजना की मुख्‍य प्रवर्तक है जिसके पास 70% इक्‍विटी है । शेष 30% इक्‍विटी समान रूप से ऑयल इंडिया लिमिटेड (ओ.आई.एल), नुमलीगढ़ रिफाइनरी लिमिटेड (एन.आर.एल) एवं असम सरकार में वितरित है।

दिनांक 02 जनवरी 2016 को यह संयंत्र कमीशनिंग हुआ तथा दिनांक 05 जनवरी 2016 को माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने बीसीपीएल पेट्रोकेमिकल कॉम्पलेक्स को देश के नाम समर्पित किया था।

दुलियाजान में गैस डीहाइड्रेशन और कंप्रेसर तथा लकवा में गैस स्‍वीटनींग इकाई और C2+ रिकवरी ईकाई स्‍थापित है जो कि लेपेटकटा कॉम्पलेक्स से तकरीबन 48 किलोमीटर दूर स्थित है।

इसके प्रमुख उत्‍पादों में उच्‍च घनत्‍व पॉलीइथाइलीन (एच.डी.पी.ई) और रैखिक घनत्‍व पॉलीइथाइलीन (एल.एल.डी.पी.ई) जो कुल मिलाकर 2,20,000 टन प्रति वर्ष और 60,000 टन प्रति वर्ष पॉलीप्रोपाईलीन (पी.पी) का भी उत्‍पादन शामिल है। अन्‍य उत्‍पादों में हार्ईड्रोजेनरेटड पाईरोलाइसिस गैसोलीन और पाईरोलाइसिस ईंधन तेल शामिल है।

बीसीपीएल में चार प्रमुख केंद्र हैं जैसे कि जीडीयू दुलियाजान जहां फ़ीड प्राकृतिक गैस मेसर्स ऑयल इंडिया लिमिटेड से प्राप्त होती है। रेलवे साइडिंग जहां मेसर्स एनआरएल से प्राप्त नेफ्था को अनलोडिंग किया जाता है। जीएसयू लकवा और सी2+ हाईड्रो कॉर्बन रिवकरी इकाई जहां मेसर्स ओएनजीसी द्वारा प्राकृतिक गैस की आपूर्ति की जाती है। लेपेटकटा, डिब्रूगढ़ में प्रमुख पेट्रोकेमिकल कॉम्पलेक्स स्थित है जहां फीड स्टॉक को प्रोसेसिंग करने के पश्चात् पॉलिमर का उत्पादन किया जाता है।

बीसीपीएल में टेक्नोलॉजीज

क्रैकर यूनिट, लामास, यूएसए द्वारा लाइसेंस प्राप्त तकनीक पर आधारित है। यह फीड स्टॉक के रुप में नेफ्था और सी2+ के साथ दोहरी फीट क्रैकर है। इस यूनिट को 2, 20,000 टीपीए पॉलिमर ग्रेड इथिलीन और 60,000 टीपीए पॉलिमर ग्रेड प्रोपीलिन का उत्पादन करने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

एलएलडीपीई / एचडीपीई स्विंग यूनिट गैस चरण प्रक्रिया प्रौद्योगिकी पर आधारित है जो इनियोस (आईएनईओएस) तकनीकी, यूके द्वारा लाइसेंस प्राप्त है। यह तकनीक 0.05 से 21.0 ग्रा/10 मिनट एमआई मूल्य और 0.920 से 0.960 ग्रा/सीसी के घनत्व मूल्य की सीमा में पॉलीइथलीन ग्रेड की उत्पादन करते है।

पॉली-प्रोपीलिन प्लांट गैस फेज लामास नोवोलेन तकनीकी जीएमबीएच (एनटीएच), जर्मनी पर आधारित है। यह 60,000 टीपीए पॉलीप्रोपीलिन के विभिन्न ग्रेड का उत्पादन करने की क्षमता से डिजाइन किया गया है।

बीसीपीएल ने अपने उत्पादों के विपणन के लिए गेल (इंडिया) लिमिटेड के साथ समझौता किया है।

 
नियम और शर्तें   |   गोपनीयता नीति   |  कॉपीराइट नीति  |   हाइपरलिंक नीति  |  अस्वीकरण
Transparent - Brahmaputra Cracker and Polymer Limited
यह ब्रह्मपुत्र क्रेकर और पॉलिमर लिमिटेड (बीसीपीएल) , रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय के अंतर्गत भारत सरकार के सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम की आधिकारिक वेबसाइट है  
Seperator - Brahmaputra Cracker and Polymer Limited
कॉपीराइट© 2016, बीसीपीएल , सर्वाधिकार सुरक्षित ।